हममें से ज़्यादातर लोगों ने त्वचा (Skin) की असमान रंगत, पिग्मेंटेशन(Pigmentation), और चेहरे तथा शरीर(Body) के अन्य खुले हिस्सों जैसेकि गर्दन(Neck) और बाँहों के धूप से साँवले पड़े रंग और भूरे धब्बों की परेशानी झेली है। समुद्र-तट पर छुट्टियाँ बिताने के बाद का जरूरत से अधिक साँवलापन(Tanning) हो या आपकी ज़िद्दी झाँइयाँ, त्वचा के रंग का हलका होना शर्मिंदगी तो देता ही है। हमारे पास आपकी इस समस्या के समाधान हैं:

केमिकल पील (Chemical Peel)

ज़ोली (Zolie Skin Clinic)की पिग्मेंटेशन कम करने वाली पील से त्वचा की रंगत (स्किन टोन) बेहतर होती है और पिग्मेंटेशन काफ़ी हद तक कम हो जाता है।

प्रक्रिया(Procedure):

केमिकल पील लगाने की सलाह उन लोगों को दी जाती है, जिनका पिग्मेंटेशन कम करने में त्वचा की गहरी सफ़ाई (एक्सफ़ॉलिएशन) के  अच्छे नतीजे मिलते हैं। इस प्रक्रिया के चरण हैं :

  • क्लीनज़िंग : धूल, चिकनाई और गंदगी से छुटकारा पाने के लिए
  • डी-ग्रीज़िंग लोशन से त्वचा की चिकनाई हटाना
  • आँखों के कोनों, मुँह के इर्द-गिर्द और नथुनों पर वैसलीन लगाना
  • पूरे चेहरे पर 1-5 मिनट तक केमिकल पील लगाना। यह समय आपके लक्ष्य, त्वचा के प्रकार जैसी कई बातों पर निर्भर करता है।
  • पील को बेअसर करना
  • हाइड्रेटिंग मास्क : त्वचा में नमी लाने और उसे पोषित करने के लिए
  • सनस्क्रीन लगाना

केमिकल पील प्रक्रिया में लगने वाला समय : 40-45 मिनट

केमिकल पील कितनी बार करायें : 5-6 सत्र

माइक्रो-डर्मेब्रेशन (Micro-dermabrasion)

माइक्रो-डर्मेब्रेशन की प्रक्रिया(Procedure)इस प्रकार है:

चरण 1: पहले हम त्वचा को साफ़ करके धूल और चिकनाई हटाते हैं

चरण 2: पूरे चेहरे और आँखों के आस-पास हीरे की टिप वाले माइक्रो-डर्मेब्रेशन की सहायता से बेहद नरमी से मरे हुए टिश्यूओं की परत हटाना (एक्सफ़ॉलियेशन )

चरण 3: इसके बाद चेहरे पर विटामिन सी या हाइल्युरॉनिक एसिड आधारित सीरम लगाकर उसे सोखे जाने के लिए कुछ देर छोड़ा जाता है ताकि आपको तत्काल चमकती त्वचा मिल सके

चरण 4: अंतिम चरण में पील-ऑफ़ मास्क लगाकर त्वचा को नमी दी जाती है और उसकी कोमल ढंग से देखभाल की जाती है।

इसके बाद आपकी त्वचा के अनुकूल सनस्क्रीन लगायी जाती है और अब आप मौसम का सामना करने को तैयार हैं।

माइक्रो-डर्मेब्रेशन की पूरी प्रक्रिया में 45 मिनट लगते हैं।

फ़ोटो-फ़ेशिअल (Photo-Facial)

IPL के साथ फ़ोटो रीजुविनेशन, त्वचा को फ़ायदा पहुँचाने वाली तमाम प्रक्रियाओं का मिश्रण है। इससे पिग्मेंटेशन और धूप के कारण पैदा होने वाले दाग़-धब्बे दूर करने में मदद मिलती है।

प्रक्रिया (Procedure)में शामिल हैं:

  1. क्लीनज़िंग: त्वचा पर जमा धूल और चिकनाई हटाने के लिए त्वचा-विज्ञान से परीक्षित जॅल का इस्तेमाल किया जाता है
  2. माइक्रो-डर्मेब्रेशन: गहरे पैठी अशुद्धियाँ निकालने के लिए हीरे की टिप वाले माइक्रो-डर्म से मरे टिश्यूओं की परत को नरमी से हटाना (एक्सफ़ॉलियेशन)
  3. हाइड्रेटिंग शीट मास्क: फिर त्वचा में नमी लाने और कोलेजन की बढ़ी गुणवत्ता को उसमें भीतर सील करने के लिए स्किन रीजुविनेटिंग मास्क लगाया जाता है
  4. इंटेंस पल्स लाइट: यह धूप से हुए सारे नुकसान को ठीक करती है और त्वचा में निखार लाकर दाग़-धब्बों और पिग्मेंटेशन को कम करने में मदद करती है।
  5. एलगी मास्क: इस मास्क का प्रयोग सारी गुणवत्ता को भीतर सील करने और त्वचा को और अधिक आराम पहुँचाने के लिए किया जाता है।
  6. मॉयस्चराइज़र+ spf : धूप से होने वाले नुकसान रोकने और तरोताज़ा महसूस कराने के लिए आपको मॉयस्चराइज़र और सनस्क्रीन लगाये जाते हैं।

क्यू स्विच्ड लेज़र के साथ कार्बन पील(Carbon Peel with Q switched Laser)

कार्बन पील, क्यू स्विच्ड लेज़र उपचार है, जो तैलीय त्वचा, ब्लैकहेड्स, बड़े रोमछिद्रों और चमक खो चुकी त्वचा वाले मरीज़ों के लिए बहुत लाभप्रद है। यह आपकी त्वचा से मरी टिश्यूओं को साफ़ करने और उसमें ताज़गी लाने का शानदार तरीका है। इससे आपको तत्काल फ़ायदा होता है और आपकी त्वचा पहले से कहीं अधिक ताज़ी, मुलायम, चिकनी और कसी हुई दिखती है।

कॉसमेलन पील (Cosmelan Peel)

कॉसमेलन उपचार इन्हें कम करने के लिए बहुत अच्छा है

  • भूरे धब्बे (Brown spots)
  • त्वचा की असमान रंग (Uneven Skin Tone)
  • मेलास्मा (Melasma)

इसका इस्तेमाल कई सालों से होता आ रहा है और यह सभी तरह की त्वचाओं का काफी समय से आज़माया हुआ और सफल इलाज है। इससे त्वचा की काफी परतें हटायी जाती हैं और इसके नतीजे इलाज शुरू होने के दो हफ़्ते बाद से नज़र आने लगते हैं। इलाज के दौरान धूप से हर हाल में बचने और सनस्क्रीन का हमेशा इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

CategoryBespoke Skincare
Write a comment:

*

Your email address will not be published.

© Copyright Zolie Skin Clinic 2018. All Rights Reserved|